2 Line Sad Shayari in Hindi

2 Line Sad Shayari in Hindi Language

Amazing collection of 2 Line Sad Shayari in Hindi. Here is all new updated 2 Line Shayari.

मेरी आँखों में छुपी उदासी को महसूस तो कर,

हम वह हैं जो सबको हंसा कर रात भर रोते हैं…!!

*************************************************

कभी-कभी जिंदगी इस कदर तनहा कर देती है,

फिर जिन्दगी से प्यारी मौत लगने लगती है…..!!

*************************************************

मुझमे खामीया बहुत सी होगी मगर एक खूबी भी है,

मे कीसी से रीश्ता मतलब के लीये नही रखता..!!

*************************************************

दुश्मन के सितम का खौफ नहीं हमको,

हम तो दोस्तों के रूठ जाने से डरते हैं..!!

*************************************************

खुदा ने लिखा ही नहीं तुझको मेरी किस्मत में शायद,

वरना खोया तो बहुत कुछ था एक तुझे पाने के लिए..!!

*************************************************

चाय दूसरी ऐसी चीज है, जिससे आँखे खुलती है,

धोखा अभी भी पहले नम्बर पर है..!!

*************************************************

वो बुलंदियाँ भी किस काम की जनाब ,

इंसान चढ़े और इंसानियत उतर जाये..!!

*************************************************

ग़ुज़री तमाम उम्र उसी शहर में जहाँ..

वाक़िफ़ सभी थे,कोई पहचानता न था..!!

*************************************************

काश ! उनको कभी फुर्सत में ये ख़याल आए,

कि कोई याद करता है उन्हें जिंदगी समझकर..!!

*************************************************

अल्फाज़ ए शायरी पढ कर किसी ने पूछ लिया कभी इश्क हुआ था,

हम मुस्कुरा के बोले “आज भी है”…!!

*************************************************

जिंदगी भर के इम्तिहान के बाद,

वो शख्स नतीजे में किसी और का निकला ..!!

*************************************************

लफ्ज ही होते हैं इंसान का आईना,

शक्ल का क्या है ..

वो तो उम्र और हालात के साथ, अक्सर बदल जाती है …!!

*************************************************

कभी फुरसत मिले तो देख लेना एक बार

किसी नज़र को तेरा इंतजार आज भी है…

*************************************************

बस तुम्हे पाने की तमन्ना ना रही,

मोहब्बत तो आज भी तुमसे बेशुमार करते है !!

*************************************************

वक़्त के एक दौर में, इतना भूखा था मैं,

कुछ न मिला तो, धोखा ही खा गया..!!

*************************************************

आज उसे ने मुझसे पुछा ” कयामत ” का मतलब,

और मैंने घबरा के कह दिया ” रुठ. जाना तेरा”..!!

*************************************************

मंजिले छोड गई मुझे तो रास्तो ने पाल लिया,

जा जिंदगी तेरी जरूरत नहीं है मैंने खुद को संभाल लिया..!!

*************************************************

मिल जायेंगा हमें भी कोई टूटके चाहने वाला,

अब शहर का शहर तो बेवफा नहीं हो सकता…!!

*************************************************

तुम भी अच्छे तुम्हारी वफ़ा भी अच्छी,

बुरे तो हम है जिनका दिल नहीं लगता तुम्हारे बिना..!!

*************************************************

माना गलत हम ही थे जो उनसे इतनी मोहब्बत कर बैठे,

पर रोयेगी वो भी एक दिन वफ़ा की तलाश में ..!!

*************************************************

हर गलती पर परदा सिर्फ रब ही डाल सकता है,

इंसान की जात तो सिर्फ उछालना जानती है..!!

*************************************************

ज़रूरी तो नहीं कि हर पल तेरे पास रहूँ,

मोहब्बत और इबादत दूर से भी की जाती है..!!

*************************************************

हाथ पकड़ कर रोक लेते अगर,तुझपर ज़रा भी ज़ोर होता मेरा,

ना रोते हम यूँ तेरे लिये,अगर हमारी ज़िन्दगी में तेरे सिवा कोई ओर होता..!!

*************************************************

प्यार का रिश्ता इतना मजबूत होना चाहिए,

की कभी तीसरे की वजह से ये रिश्ता ना टूटे..!!

*************************************************

फुर्सत मिले तो उन का हाल भी पूछ लिया करो,

जिन के सीने में दिल की जगह तुम धड़कते हों..!!

*************************************************

बड़ी गुस्ताख़ है तेरी यादें इन्हे तमीज सिखा दो,

दस्तक भी नहीं देती और दिल में ऊतर आती है..!!

*************************************************

चल हो गया फ़ैसला, कुछ कहना ही नहीं,

तू जी ले मेरे बग़ैर… मुझे जीना ही नहीं… !!

*************************************************

2 Line Sad Shayari in Hindi

Whatsapp Status in Hindi

Harivansh Rai Bachchan Ki Kavitayen

Harivansh Rai Bachchan Ki Kavitayen

Harivansh Rai Bachchan Ki Kavitayen ab hindi me. Yaha par unki kuch rachnaye di hui hai.

**** हरिबंश राय बच्चन जी की “अग्निपथ” कबिता ****

Harivansh Rai Bachchan Ki rachna agnipath

 

वृक्ष हों भले खड़े,
हों घने हों बड़े,
एक पत्र छाँह भी,
माँग मत, माँग मत, माँग मत,
अग्निपथ अग्निपथ अग्निपथ !

तू न थकेगा कभी,
तू न रुकेगा कभी,
तू न मुड़ेगा कभी,
कर शपथ, कर शपथ, कर शपथ,
अग्निपथ अग्निपथ अग्निपथ !

यह महान दृश्य है,
चल रहा मनुष्य है,
अश्रु श्वेत रक्त से,
लथपथ लथपथ लथपथ,
अग्निपथ अग्निपथ अग्निपथ !!

– हरिवंश राय बच्चन 

***********************************************************************************

**** हरिबंश राय बच्चन जी की “रोक न पाया मैं आँसू “- कबिता ****

Harivansh Rai Bachchan Ki Kavitayen hindi me

जिसके पीछे पागल हो कर, मैं दौड़ा अपने जीवन भर,
जब मृगजल में परिवर्तित हो, मुझ पर मेरा अरमान हँसा!
तब रोक न पाया मैं आँसू… !!

जिसमें अपने प्राणों को भर, कर देना चाहा अजर–अमर,
जब विस्मृति के पीछे छिपकर, मुझ पर वह मेरा गान हँसा!
तब रोक न पाया मैं आँसू… !!

मेरे पूजन आराधन को, मेरे संपूर्ण समर्पण को,
जब मेरी कमज़ोरी कहकर, मुझ पर मेरा पाषाण हँसा!
तब रोक न पाया मैं आँसू… !!

– हरिवंश राय बच्चन

***********************************************************************************

**** हरिबंश राय बच्चन जी की “मैं कल रात नहीं रोया था” – कबिता ****

 

मैं कल रात नहीं रोया था,
दुख सब जीवन के विस्मृत कर,
तेरे वक्षस्थल पर सिर धर,
तेरी गोदी में चिड़िया के बच्चे-सा छिपकर सोया था,
मैं कल रात नहीं रोया था..!

प्यार-भरे उपवन में घूमा,
फल खाए, फूलों को चूमा,
कल दुर्दिन का भार न अपने पंखो पर मैंने ढोया था,
मैं कल रात नहीं रोया था..!

आँसू के दाने बरसाकर,
किन आँखो ने तेरे उर पर,
ऐसे सपनों के मधुवन का मधुमय बीज, बता, बोया था?
मैं कल रात नहीं रोया था..!!

***********************************************************************************

 

**** हरिबंश राय बच्चन जी की “क्या भूलूं, क्या याद करूं मैं” – कबिता ****

 

अगणित उन्मादों के क्षण हैं,
अगणित अवसादों के क्षण हैं,
रजनी की सूनी की घडियों को किन-किन से आबाद करूं मैं,
क्या भूलूं, क्या याद करूं मैं..!

याद सुखों की आसूं लाती,
दुख की, दिल भारी कर जाती,
दोष किसे दूं जब अपने से, अपने दिन बर्बाद करूं मैं,
क्या भूलूं, क्या याद करूं मैं..!

दोनो करके पछताता हूं,
सोच नहीं, पर मैं पाता हूं,
सुधियों के बंधन से कैसे अपने को आबाद करूं मैं,
क्या भूलूं, क्या याद करूं मैं..!!

***********************************************************************************

Madhushala Poem in Hindi by Harivansh Rai Bachchan

Maa poem in Hindi

This poem is a really amazing maa poem in Hindi.

Amazing Poem – Maa Poem in Hindi

जब आँख खुली तो अम्‍मा की गोदी का एक सहारा था,
उसका नन्‍हा सा आँचल मुझे भूमण्‍डल से प्‍यारा था..!

उसके चेहरे की झलक देख चेहरा फूलों सा खिलता हैं,
उसके स्‍तन की एक बूंद से मुझको जीवन मिलता हैं..!

हाथों से बालों को नोचा, पैरों से खूब प्रहार किया,
फिर भी उस माँ ने पुचकारा हमको जी भर के प्‍यार किया..!

मैं उसका राजा बेटा हूँ वो आँख का तारा कहती हैं,
मैं बनूँ बुढ़ापे में उसका बस एक सहारा कहती हैं..!

उंगली को पकड़ चलाया था पढ़ने विद्यालय भेजा था,
मेरी नादानी को भी निज अन्‍तर में सदा सहेजा था..!

मेरे सारे प्रश्‍नों का वो फौरन जवाब बन जाती हैं,
मेरी राहों के काँटे चुन वो ख़ुद ग़ुलाब बन जाती हैं..!

माँ ही हैं जो ख़ुद भूखी रह करके हमें खिलाती थी,
हमको सूखा बिस्‍तर देकर ख़ुद गीले में सो जाती थी..!

माँ ही हैं जिसने होठों को भाषा सिखलाई थी,
मेरी नींदों के लिए रात भर उसने लोरी गाई थी..!

माँ ही हैं जिसने हर ग़लती पर डाँटा समझाया था,
बच जाऊँ बुरी नज़र से काला टीका सदा लगाया था..!

माँ की ममता को देख मौत भी आगेसे हट जाती है,
गर माँ अपमानित होती, धरती की छाती फट जाती है..!

घर को पूरा जीवन देकर बेचारी माँ क्‍या पाती है,
रूखा सूखा खा लेती है, पानी पीकर सो जाती है..!

जो माँ जैसी देवी घर के मंदिर में नहीं रख सकते हैं,
वो लाखों पुण्‍य भले कर लें इंसान नहीं बन सकते हैं..!

माँ जिसको भी जल दे दे वो पौधा संदल बन जाता है,
माँ के चरणों को छूकर पानी गंगाजल बन जाता है..!

माँ के आँचल ने युगों-युगों से भगवानों को पाला है,
माँ के चरणों में जन्नत है गिरिजाघर और शिवाला है..!

हिमगिरि जैसी ऊँचाई है, सागर जैसी गहराई है,
दुनिया में जितनी ख़ुशबू है माँ के आँचल से आई है..!

माँ कबिरा की साखी जैसी, माँ तुलसी की चौपाई है,
मीराबाई की पदावली ख़ुसरो की अमर रुबाई है..!

माँ आंगन की तुलसी जैसी पावन बरगद की छाया है,
माँ वेद ऋचाओं की गरिमा, माँ महाकाव्‍य की काया है..!

माँ मानसरोवर ममता का, माँ गोमुख की ऊँचाई है,
माँ परिवारों का संगम है, माँ रिश्‍तों की गहराई है..!

माँ हरी दूब है धरती की, माँ केसर वाली क्‍यारी है,
माँ की उपमा केवल माँ है, माँ हर घर की फुलवारी है..!

सातों सुर नर्तन करते जब कोई माँ लोरी गाती है,
माँ जिस रोटी को छू लेती है वो प्रसाद बन जाती है..!

माँ हँसती है तो धरती का ज़र्रा-ज़र्रा मुस्‍काता है,
देखो तो दूर क्षितिज अंबर धरती को शीश झुकाता है..!

माना मेरे घर की दीवारों में चन्‍दा-सी मूरत है,
पर मेरे मन के मंदिर में बस केवल माँ की मूरत है..!

माँ सरस्‍वती, लक्ष्‍मी, दुर्गा, अनुसूया, मरियम, सीता है,
माँ पावनता में रामचरितमानस्, भगवद्गीता है..!

अम्‍मा तेरी हर बात मुझे वरदान से बढ़कर लगती है,
हे माँ तेरी सूरत मुझको भगवानसे बढ़कर लगती है..!

सारे तीरथ के पुण्‍य जहाँ, मैं उन चरणों में लेटा हूँ,
जिनके कोई सन्‍तान नहीं, मैं उन माँओं का बेटा हूँ..!

हर घर में माँ की पूजा हो ऐसा संकल्‍प उठाता हूँ,
मैं दुनिया की हर माँ के चरणों में ये शीश झुकाता हूँ..!!

**********************************************************************************

Poem on Father in Hindi

 

Best poem on father in Hindi language. All poem is dedicated to all father in the world.

Best Poem on Father in Hindi for dedicated fathers

 

कविता 1-  !! – वो थे पापा – !!

जब माँ डाँट रहीं थी तो, कोई चुपके से हँसा रहा था,
वो थे पापा,

जब मैं सो रहा था तब कोई चुपके से सिर को सहला रहा था ,
वो थे पापा,

जब मैं सुबह उठा तो कोई बहुत थक कर भी काम पर जा रहा था ,
वो थे पापा,

खुद कड़ी धूप में रह कर कोई मुझे ए.सी. में सुला रहा था,
वो थे पापा,

सपने तो मेरे थे पर उन्हें पूरा करने का रास्ता कोई और बताऐ जा रहा था ,
वो थे पापा,

मैं तो सिर्फ अपनी खुशियों में हँसता हूँ,
पर मेरी हँसी देख कर कोई अपने गम भुलाऐ जा रहा था ,
वो थे पापा,

फल खाने की ज्यादा जरूरत तो उन्हें थी,
पर कोई मुझे सेब खिलाए जा रहा था ,
वो थे पापा,

खुश तो मुझे होना चाहिए कि वो मुझे मिले ,
पर मेरे जन्म लेने की खुशी कोई और मनाए जा रहा था ,
वो थे पापा,

ये दुनिया पैसों से चलती है पर कोई सिर्फ मेरे लिए पैसे कमाए जा रहा था ,
वो थे पापा,

घर में सब अपना प्यार दिखाते हैं पर कोई बिना दिखाऐ भी इतना प्यार किए जा रहा था ,
वो थे पापा,

पेड़ तो अपना फल खा नही सकते इसलिए हमें देते हैं…
पर कोई अपना पेट खाली रखकर भी मेरा पेट भरे जा रहा था ,
वो थे पापा,

मैं तो नौकरी के लिए घर से बाहर जाने पर दुखी था
पर मुझसे भी अधिक आंसू कोई और बहाए जा रहा था ,
वो थे पापा,

मैं अपने “बेटा” शब्द को सार्थक बना सका या नही..
पता नहीं… पर कोई बिना स्वार्थ के अपने “पिता” शब्द को
सार्थक बनाए जा रहा था ,
वो थे पापा…!!

 

*************************************************************************************

 

कविता 2- !!- माँ घर का गौरव तो पिता घर का अस्तितव -!!

 

माँ घर का गौरव तो पिता घर का अस्तितव होते हैं,
माँ के पास अश्रुधारा तो पिता के पास संयम होता है..!

दोनो समय का भोजन माँ बनाती है,
तो जीवन भर भोजन की व्यवस्था करने वाले पिता होते हैं..!

कभी चोट लगे तो मुंह से ‘माँ ’ शब्द निकलता है
रास्ता पार करते वक़्त कोई ट्रक पास आकर ब्रेक लगाये तो ‘ बाप रे ’ ही निकलता है.

क्यूं कि छोटे छोटे संकट के लिये माँ याद आती है,
मगर बड़े संकट के वक़्त पिता याद आते हैं..!

पिता एक वट वृक्ष है जिसकी शीतल छाव मे,
सम्पूर्ण परिवार सुख से रहता है…!!!!

 

*************************************************************************************

father poem in hindi

कविता 3 – !!- पापा आप बहुत याद आते हैं -!!

 

जिन्दगी तो मेरी कट रही है आपके बाद भी,
मगर आप के बिन जीने में वो बात नहीं…!

उपर से तो सब मेरे अपने ही अपने है,
मगर आप की तरह अन्दर से कोई मेरे साथ नही…!

ख्याल सब रखते है मेरा अपने तरीके से अच्छी तरह,
मगर आपसे जिद करने का मजा अब आता नहीं…!

लडाईयां तो अब भी होती है घर में हमारे,
मगर आपसे वो मीठा मीठा लडने का मजा कोई दे पाता नहीं…!

मै आज भी शाम को दरवाजे पे नजरें टिकाये रहता हूं,
आयेंगे अभी कुछ ले के मै अपने से दिल से बार बार कहता हूं…! 

मगर जब देखता हूं आस-पास आप नहीं होते,
तब सच मानिये आपके ये बच्चे छिप छिप के अकेले में है बहुत रोते हैं..!

भूल थी अगर मेरी तो एक दफा कहते मुझसे,
ऐसे अकेला छोड जाना कोई अच्छी बात नहीं…..!!

 

*************************************************************************************

सोहनलाल द्विवेदी की कविताएं

सोहनलाल द्विवेदी 

सोहनलाल द्विवेदी जी कुछ चुनी हुई कविताएं।

Sohanlal Dwiwedi

कोशिश करने वालों की हार नहीं होती

लहरों से डर कर नौका पार नहीं होती
कोशिश करने वालों की हार नहीं होती

नन्हीं चींटी जब दाना लेकर चलती है
चढ़ती दीवारों पर, सौ बार फिसलती है

मन का विश्वास रगों में साहस भरता है
चढ़कर गिरना, गिरकर चढ़ना न अखरता है

आख़िर उसकी मेहनत बेकार नहीं होती
कोशिश करने वालों की हार नहीं होती

डुबकियां सिंधु में गोताखोर लगाता है
जा जा कर खाली हाथ लौटकर आता है

मिलते नहीं सहज ही मोती गहरे पानी में
बढ़ता दुगना उत्साह इसी हैरानी में

मुट्ठी उसकी खाली हर बार नहीं होती
कोशिश करने वालों की हार नहीं होती

असफलता एक चुनौती है, स्वीकार करो
क्या कमी रह गई, देखो और सुधार करो

जब तक न सफल हो, नींद चैन को त्यागो तुम
संघर्ष का मैदान छोड़ मत भागो तुम

कुछ किये बिना ही जय जय कार नहीं होती
कोशिश करने वालों की हार नहीं होती..!!

 — सोहनलाल द्विवेदी 

**********************************************************************************

बढे़ चलो, बढे़ चलो

न हाथ एक शस्त्र हो,
न हाथ एक अस्त्र हो,
न अन्न वीर वस्त्र हो,
हटो नहीं, डरो नहीं, बढ़े चलो, बढ़े चलो..!!

रहे समक्ष हिम-शिखर,
तुम्हारा प्रण उठे निखर,
भले ही जाए जन बिखर,
रुको नहीं, झुको नहीं, बढ़े चलो, बढ़े चलो..!!

घटा घिरी अटूट हो,
अधर में कालकूट हो,
वही सुधा का घूंट हो,
जिये चलो, मरे चलो, बढ़े चलो, बढ़े चलो..!!

गगन उगलता आग हो,
छिड़ा मरण का राग हो,
लहू का अपने फाग हो,
अड़ो वहीं, गड़ो वहीं, बढ़े चलो, बढ़े चलो..!!

चलो नई मिसाल हो,
जलो नई मिसाल हो,
बढो़ नया कमाल हो,
झुको नही, रूको नही, बढ़े चलो, बढ़े चलो..!!

अशेष रक्त तोल दो,
स्वतंत्रता का मोल दो,
कड़ी युगों की खोल दो,
डरो नही, मरो नहीं, बढ़े चलो, बढ़े चलो..!!

 — सोहनलाल द्विवेदी 

**********************************************************************************

मातृभूमि

ऊँचा खड़ा हिमालय
आकाश चूमता है,
नीचे चरण तले झुक,
नित सिंधु झूमता है..!!

गंगा यमुन त्रिवेणी
नदियाँ लहर रही हैं,
जगमग छटा निराली
पग पग छहर रही है..!!

वह पुण्य भूमि मेरी
वह स्वर्ण भूमि मेरी,
वह जन्मभूमि मेरी
वह मातृभूमि मेरी ..!!

झरने अनेक झरते
जिसकी पहाड़ियों में,
चिड़ियाँ चहक रही हैं,
हो मस्त झाड़ियों में..!!

अमराइयाँ घनी हैं
कोयल पुकारती है,
बहती मलय पवन है,
तन मन सँवारती है..!!

वह धर्मभूमि मेरी,
वह कर्मभूमि मेरी,
वह जन्मभूमि मेरी
वह मातृभूमि मेरी ..!!

जन्मे जहाँ थे रघुपति,
जन्मी जहाँ थी सीता,
श्रीकृष्ण ने सुनाई,
वंशी पुनीत गीता ..!!

गौतम ने जन्म लेकर,
जिसका सुयश बढ़ाया,
जग को दया सिखाई,
जग को दिया दिखाया ..!!

वह युद्ध–भूमि मेरी,
वह बुद्ध–भूमि मेरी,
वह मातृभूमि मेरी,
वह जन्मभूमि मेरी ..!!

— सोहनलाल द्विवेदी 

**********************************************************************************

ओस

हरी घास पर बिखेर दी हैं
ये किसने मोती की लड़ियाँ?
कौन रात में गूँथ गया है
ये उज्‍ज्‍वल हीरों की करियाँ?

जुगनू से जगमग जगमग ये
कौन चमकते हैं यों चमचम?
नभ के नन्‍हें तारों से ये
कौन दमकते हैं यों दमदम?

लुटा गया है कौन जौहरी
अपने घर का भरा खजा़ना?
पत्‍तों पर, फूलों पर, पगपग
बिखरे हुए रतन हैं नाना।

बड़े सवेरे मना रहा है
कौन खुशी में यह दीवाली?
वन उपवन में जला दी है
किसने दीपावली निराली?

जी होता, इन ओस कणों को
अंजली में भर घर ले आऊँ?
इनकी शोभा निरख निरख कर
इन पर कविता एक बनाऊँ..!!

— सोहनलाल द्विवेदी 

**********************************************************************************

जी होता चिड़िया बन जाऊँ

जी होता, चिड़िया बन जाऊँ,
मैं नभ में उड़कर सुख पाऊँ,

मैं फुदक-फुदककर डाली पर,
डोलूँ तरु की हरियाली पर,
फिर कुतर-कुतरकर फल खाऊँ,
जी होता चिड़िया बन जाऊँ,

कितना अच्छा इनका जीवन?
आज़ाद सदा इनका तन-मन,
मैं भी इन-सा गाना गाऊँ,
जी होता, चिड़िया बन जाऊँ,

जंगल-जंगल में उड़ विचरूँ,
पर्वत घाटी की सैर करूँ,
सब जग को देखूँ इठलाऊँ,
जी होता चिड़िया बन जाऊँ,

कितना स्वतंत्र इनका जीवन?
इनको न कहीं कोई बंधन,
मैं भी इनका जीवन पाऊँ,
जी होता चिड़िया बन जाऊँ..!!

— सोहनलाल द्विवेदी 

Poems in Hindi

Amazing Collection of Poems in Hindi language, Short Poem in Hindi 

Kavita in Hindi

 

घर जाता हूँ तो मेरा ही बैग मुझे चिढ़ाता है,

 

घर जाता हूँ तो मेरा ही बैग मुझे चिढ़ाता है,
मेहमान हूँ अब ,ये पल पल मुझे बताता है …

माँ कहती है, सामान बैग में फ़ौरन डालो,
हर बार तुम्हारा कुछ ना कुछ छुट जाता है…

घर पंहुचने से पहले ही लौटने की टिकट,
वक़्त परिंदे सा उड़ता जाता है…

उंगलियों पे लेकर जाता हूं गिनती के दिन,
फिसलते हुए जाने का दिन पास आता है…

अब कब होगा आना सबका पूछना ,
ये उदास सवाल भीतर तक बिखराता है…

घर से दरवाजे से निकलने तक ,
बैग में कुछ न कुछ भरते जाता हूँ …

जिस घर की सीढ़ियां भी मुझे पहचानती थी ,
घर के कमरे की चप्पे चप्पे में बसता था मैं ,
लाइट्स ,फैन के स्विच भूल हाथ डगमगाता है…

पास पड़ोस जहाँ बच्चा बच्चा था वाकिफ ,
बड़े बुजुर्ग बेटा कब आया पूछने चले आते हैं…

कब तक रहोगे पूछ अनजाने में वो,
घाव एक और गहरा कर जाते हैं…

ट्रेन में माँ के हाथों की बनी रोटियां,
डबडबाई आँखों में आकर डगमगाता है…

लौटते वक़्त वजनी हो गया बैग,
सीट के नीचे पड़ा खुद उदास हो जाता है…

तू एक मेहमान है अब ये पल पल मुझे बताता है…
मेरा घर मुझे वाकई बहुत याद आता है….!!

Whatsapp Status in Hindi

Whatsapp Status in Hindi

This page includes whatsapp status in Hindi, short love status,funny status and many more. We are regularly updated every week. This website have amazing whatsapp status in Hindi language. You can use this status on your whatsapp status and share your lovely friend’s.

 

1- फिक्र तो तेरी आज भी करते हैं , बस जिक्र करने कह हक़ नहीं रहा .!! 

    Fikr to teri aaj v  karte hain, Bas jikra  karne ka hak nhi raha.

****************************************************************************

2 – शतरंज मे वज़ीर और ज़िंदगी मे ज़मीर, अगर मर जाए तो खेल ख़त्म समझिए..!!

      Satranj me wajir aur jindagi jameer agar mar jaye to khel khatm samajhiye.. !! 

****************************************************************************

3- साझेदारी करो तो किसी के दर्द के साथ, क्योंकि खुशियों के दावेदार तो बहुत होते हैं.. !!

     Sajhedari karo to kisi k dard k sath, Kyuki khusiyo k dawedar to bahut hote hai.. !!

****************************************************************************

4- रानी नहीं हैं तो किया होवा आज भी लाखो दिलो पे राज करता हैं ये बादशाह.. !!

     Rani nahi to kya hua aaj v lakho Dilo par raj karta hai ye Badsah .. !!

****************************************************************************

5-  हाथ में बस एक बासुरी की कमी हैं, वरना हमने भी कई गोपिया फसाई हैं.. !!

Hath me ek basuri ki kami hai, warna hamne V kai gopiya fasayi hai.. !!

****************************************************************************

6-   दिन तो कुत्तों के आते हैं , हमारा तो जमाना आएगा ..!!

Din to kutto k aate hey…Hamara to Zamana Ayega..!!

****************************************************************************

7 –  तकलीफ तो जिंदगी देती है मौत को तो लोग वैसे ही बदनाम करते रहते हैं। …!!

Takleef to zindagi deti hai maut ko to log waise hi badnam karte  rahte hain ..!!

****************************************************************************

8 – लोग कहते हैं की मेरा भी समय आयेगा , मैं कहता हूँ की मेरा समय मैं ख़ुद लाऊंगा ..!!

Log kahte hain ki mera bhi Time aayega, Mai kahta hoon ki mera Time mai khud launga.. !!

****************************************************************************

9-  सच्ची मोहब्बत तो अक्सर दिल तोड़ने वाली से ही होती हैं..!!

Sachi mohabbat to aksar dil todne wali se hi hoti hai.. !!

****************************************************************************

10- मैं वादा करता हूँ ताउम्र आप से इसी तरह प्यार करता रहूँगा..!!

Mai wada karta hoon sari umar aapse isi tarah pyar karta rahunga… !!

****************************************************************************

Valentine Day Shayari in Hindi

Valentine Day SMS in Hindi

Here is best collection of valentine day shayari in hindi language we have latest and updated content.

Valentine Day sms in Hindi

प्यार शब्दों का मोहताज नही होता,

दिल में हर किसी के राज़ नही होता,

क्यों इंतज़ार करते है सभी वैलेंटाइन डे का,

क्या साल का हर दिन प्यार का हक़दार नही होता…??

***********************************************

ये दुनियाँ के तमाम चेहरे तुम्हें गुमराह कर देंगें,

तुम बस मेरे दिल में रहो यहाँ कोई आता जाता नहीं..!!

***********************************************

तेरी दीवानगी की कोई हद नही,

तेरी सूरत के सिवा कुछ याद नही,

में हुँ फूल तेरे गुलशन का,

तेरे सिवा मुझ पे किसी का हक़ नही..!!

***********************************************

कब उनकी पलकों से इज़हार होगा,

दिल के किसी कोने में हमारे लिए प्यार होगा,

गुज़र रही है हर रात उनकी याद में,

कभी तो उनको भी हमारा इंतज़ार होगा..!!

***********************************************

आपके आने से ज़िन्दगी कितनी खूबसूरत है,

दिल में बसी है जो वो आपकी ही सूरत है,

दूर जाना नही हमसे कभी भूलकर भी,

हमे हर कदम पर आपकी ज़रूरत है..!!

***********************************************

आकाश के तारो मे खोया है जहां सारा,

लगता है प्यारा एक एक तारा,

उन तारो मे सबसे प्यारा है एक सितारा,

जो इस वक्त पढ़ रहा है sms हमारा 

Happy valentine day dear!

***********************************************

जब तन्हाई में आपकी याद आती है ,

हाथों पे एक ही फ़रियाद आती है ,

ख़ुदा आपको हर ख़ुशी दे ,

क्युकि आज भी हमारी हर ख़ुशी आपके बाद आती है…!!

***********************************************

प्यार वो एहसास है जो मिटता नहीं,

प्यार वो पर्वत है जो झुकता नहीं,

प्यार की कीमत क्या है हमसे पूछो,

प्यार वो अनमोल हिरा है जो बिकता नही ..!!

***********************************************

तेरी पहली मुलाकात जिन्दगी में एक बहार लाई थी,

हर आईने में तेरी तस्वीर मुझे नजर आई थी,

लोग कहते हैं प्यार में नींद उड़ जाती है,

हमने तो नींदों में ही प्यार की दुनिया बनाई थी..!!

***********************************************

अब तो शाम-ओ-सहर मुझे रहता हैं बस खयाल तेरा,

कुछ इस कदर दुआओ सा मिला हैं मुझे साथ तेरा,

की अब कोई शिकवा और शिकायत नही उस खुदा से,

बस एक तुम्हे पाकर खुशियो से भर गया ये दामन मेरा…!!

***********************************************

best Valentine Day Shayari in Hindi

वादा ना करो अगर निभा ना सको,

चाहो ना उसको जिसे तुम पा ना सको 

दोस्त तो दुनिया में बहुत होते हैं पर एक खास रखो

जिसके बिना तुम मुस्कुरा ना सको..!!

***********************************************

तेरे होठों पे हो बस मुस्कान,

ऐसा में कुछ आज करू,

ना होने दू कभी मोहब्बत कम,

इतना जी भर कर तुझे प्यार करू..!!

***********************************************

तेरे हाथ की मैं वो लकीर बन जाऊं,

सिर्फ मैं ही तेरा मुक़दर तेरी तक़दीर बन जाऊं,

मैं तुझे इतना चाहू की तू भूल जाए हर रिश्ता,

सिर्फ मैं ही तेरे हर रिश्ते की तस्वीर बन जाऊं,

तू आंखें बंद करे तो आऊं मैं ही नज़र,

इस तरह मैं तेरे हर खवाब की ताबीर बन जाऊ..!!

***********************************************

हमे जरूरत नहीं किसी अलफ़ाज़ की,

प्यार तो चीज़ है बस एहसास की,

पास होते आप तो मंज़र कुछ और ही होता,

लेकिन दूर से खबर है हमे आपकी हर धड़कन की…!!

***********************************************

कितना अजीब अपनी ज़िन्दगी का सफर निकला,

सारे जहाँ का दर्द अपना मुक़द्दर निकला,

जिसके नाम अपनी ज़िन्दगी का हर लम्हा कर दिया,

अफ़सोस वही हमारी चाहत से बेखबर निकला…!!

***********************************************

चलो आज खामोश प्यार को इक नाम दे दें,

अपनी मुहब्बत को इक प्यारा अंज़ाम दे दें,

इससे पहले कहीं रूठ न जाएँ मौसम अपने,

धड़कते हुए अरमानों एक सुरमई शाम दे दें…!!

***********************************************

ख्वाबों में आते हो तुम ,

यादों में आते हो तुम ,

जहाँ मैं जाऊं ,जहाँ मैं देखूं,

मुझे नज़र आते हो तुम …!!

***********************************************

वो प्यारी सी हसी  वो उसका खिलखिलाना,
 
 बड़ी मासूमियत से यूं नज़रे मिलाना,
 
 जो देखूँ मैं उसको, तोह उसका शरमाना,

 मेरे दिल में हज़ारों उमंगें जगाना..!!

***********************************************

वो गुलाब जो तुमने दिया था,

वो प्यार जो तुमने मुझसे किया था ,

वो याद जो तुमने मुझे दिया था ,

वो सफ़र जो हमनें साथ तय किया था ,

नहीं भूल पाउँगा मैं …

जब तक है जान …

जब तक है जान…!!

***********************************************

Valentine Day Shayari

तुम उदास उदास से लगते हो ,

कोई तरक़ीब बताओ मानाने की,

वादा है तुमसे मैं जिंदगी गिरवीं रख हूँ ,

तुम कीमत बताओ मुस्कुराने की ….!!

***********************************************

बैठा के सामने जी भर के दीदार करना,

एक रोज़ बाँहों में भर के प्यार करना,

मेरी मजबूरी समझना शिकवा ना कोई करना,

हम तेरे ही रहेंगे हमारा ऐतबार करना.. !!
Happy Valentine Day

***********************************************

{ Shayrana Dil – Collection of Hindi Shayari,Valentine Day Shayari in Hindi }

Desh Bhakti Shayari in Hindi

Desh Bhakti Shayari in hindi

Great lines for every Indian and Happy Republic Day. Its amazing collection of Desh Bhakti Shayari in Hindi.

Republic Day 2017

फिर उड़ गयी नींद मेरी ये सोचकर ,

के जो शहीदों का बहा वो खून मेरी नींद के लिए था …!!

******************************************

हर वक़्त मेरी आँखों में धरती का स्वप्न हो ,

जब कभी मरू तो तिरंगा मेरा कफ़न हो ,

और कोई ख्वाहिश नहीं है ज़िन्दगी में ,

जब कभी भी जन्मु तो भारत मेरा वतन हो …!!

******************************************

आजादी की कभी शाम नही होने देगे,

शहीदों  की कुरबानी बदनाम नहीं होने देंगे  ,

बची हो जो एक बूंद भी गरम लहू की तब तक,

भारत माता का आचल नीलाम नहीं होने देंगे…!!

!! जय हिंद !!

******************************************

अधिकार मिलते नहीं लिए जाते है ,

आजाद  हैं मगर गुलामी किये जाते हैं ,

बंदन करो उन सैनिकों  का ,

जो मौत को आँचल में जिए जाते हैं ..!!

******************************************

Desh Bhakti Shayari in Hindi Collection

 

दे सलामी इस तिरंगे को

जिस से तेरी शान हैं,

सर हमेशा ऊँचा रखना इसका

जब तक दिल में जान हैं..!!

******************************************

न मरो सनम बेवफा के लिए ,

दो गज जमीन नहीं मिलेगी दफ़न के लिए ,

मरना है तो मरो  वतन के लिए,

हसीना भी दुपट्टा उतार देगी  तेरे कफ़न के लिए .!!

!! जय हिंद !!

*******************************************

किसी गजरे की खुशबु को महकता छोड़ आया हूँ,

अपनी  नन्ही सी चिड़िया को चहकता छोड़ आया हूँ,

मुझे छाती से अपनी तू लगा लेना ऐ भारत माँ,

मैं अपनी माँ की बाहों को तरसता छोड़ आया हूँ !!

*******************************************

बस ये बात हवाओं को बताये रखना,

रौशनी होगी चिरागों को जलाये रखना,

लहू देकर जिसकी हिफाज़त की शहीदों ने,

उस तिरंगे को सदा दिल में बसाये रखना… !!

*******************************************

मैं भारत बर्ष का हमेशा अमित सम्मान करता हूँ,

यहाँ की चांदनी मिट्टी का ही गुणगान करता हूँ,

मुझे चिंता नहीं है स्वर्ग जाकर मोक्ष पाने की,

तिरंगा हो कफ़न मेरा, बस यही अरमान रखता हूँ..!!

*******************************************

Desh Bhakti Shayari

ज़माने भर में मिलते हे आशिक कई,

मगर वतन से खूबसूरत कोई सनम नहीं होता,

नोटों में भी लिपट कर, सोने में सिमटकर मरे हे कई,

मगर तिरंगे से खूबसूरत कोई कफ़न नहीं होता …!!

!! जय हिंद !!

*******************************************

इश्क़  तो करता है हर कोई ,

महबूब पे मरता है हर कोई ,

कभी वतन को महबूब बना कर देखो ,

तुझ पे मरेगा हर कोई ….!!

*******************************************

चलो फिर से आज वो नजारा याद कर ले ,

शहीदों के दिल में थी वो जलवा यद् करले 

जिसमे बहकर आज़ादी पहुँची थी किनारे पे,

देशभक्तों के खून की वो धारा याद कर ले…!!

*******************************************

जशन आज़ादी का मुबारक हो देश वालो को,

फंदे से मोहब्बत थी हम वतन के मतवालो को…!!

*******************************************

Happy Republic Day 2017

Desh Bhakti Shayari in Hindi Collection

Shayrana Dil – Collection of Desh Bhakti Shayari, Ahmad Faraz Shayari in Hindi, 2 line  Shayari in Hindi

Happy New Year Message in Hindi

Happy New Year Message in Hindi

Best Collection of Happy New Year message and sms in Hindi. And most welcome to 2017 make a lot of happiness to your family and your friend’s.

Happy New Year sms

इस रिश्ते को यूँ ही बनाये रखना,
दिल में यादों के चिराग जलाये रखना,
बहुत प्यारा सफर रहा 2016 का…
बस ऐसा ही साथ 2017 में भी बनाये रखना !!

नव वर्ष की शुभ कामनाएं..

*****************************************************

हम आपके दिल में रहते हैं,
सारे दर्द आपके सहते हैं,
कोई हम से पहले विश न कर दे आपको,
इस लिए सबसे पहले हैप्पी न्यू ईयर कहते हैं !!               

Happy New Year

*****************************************************

कोई दूर हो जाता हैं मुझसे तो कोई बिछड़ जाता हैं,
दर्द को आगोश में लिए ही मेरा हर साल आता हैं !!

नव वर्ष की शुभ कामनाएं..

*****************************************************

 
फूल खिलेंगे गुलशन में खूबसूरती नज़र आएगी,
बीते साल की खट्टी मीठी यादें संग रह जाएगी,
आओ मिलकर जशन मनाएं नए साल का हँसी ख़ुशी से,
नए साल की पहली सुबह ख़ुशियाँ अनगिनत लाएगी !!
 
Happy New Year
 
*****************************************************

Happy New Year sms  in Hindi

 
सबके दिलों में हो सबके लिए प्यार;
आने वाला हर दिन लाए खुशियों का त्यौहार,
इस उम्मीद के साथ आओ भूल के सारे गम,
न्यू इयर 2017  को हम सब करें वेलकम।

हैप्पी न्यू इयर..

*****************************************************

सदा दूर रहो ग़म की परछाइयों से,
सामना ना हो कभी तन्हाइयों से,
हर अरमान हर ख़्वाब पूरा हो आपका,
यही दुआ है दिल की गहराइयों से !!

नव वर्ष की ढेरों शुभकामनाएं आपको और आपके परिवार को ..

*****************************************************

हर साल आता है, हर साल जाता है,
इस साल आपको, वो सब मिले
जो आपका दिल चाहता है !!

नव वर्ष 2017 की मँगल कामनाएँ

*****************************************************

पापा को आज नए साल पर क्या उपहार दूँ ?
तोहफे दूँ फूलों के या गुलाबो का हार दूँ?
मेरी जिंदगी में जो है सबसे प्यारा..
आप पर तो मैं अपनी जिंदगी ही वार दूँ !!

Happy New Year Papa

*****************************************************

Happy New Year Message

नया सबेरा नयी किरण के साथ , नया दिन एक प्यारी सी मुस्कान के साथ ,

आपको नया साल मुबारक हो , ढेर सारी  दवाओं के साथ !!

Happy New Year

*****************************************************

भुला दो बिता हुआ कल,
दिल में बसो आने वाला कल,
हंसो और हंसाओ, चाहे जो भी पल,
खुशियाँ ले कर आयेगा आने वाला कल !!

नए वर्ष 2017 की हार्दिक शुभकामनायें

*****************************************************

नए रंग हों नयी उमंगें आँखों में उल्लास नया,
नए गगन को छू लेने का मन में हो विश्वास नया,
नए वर्ष में चलो पुराने मौसम का हम बदलें रंग;
नयी बहारें लेकर आये जीवन में मधुमास नया !!

नव-वर्ष की हार्दिक शुभकामना 

*****************************************************

कदम-कदम पे फूल खिले,
खुशियाँ आपको इतनी मिले,
कभी ना करना पड़े दुख का सामना,
करते हैं हम दिल से कामना !!

नए वर्ष 2017 की ढेर साड़ी शुभकामना

*****************************************************

Happy New Year Message in Hindi

बीत गया जो साल भूल जाएँ,
इस नए साल को चलो अपनाएं,
करते हैं हम दुआ सर झुका के प्रभु से,
हो जाएँ आपके सभी सपने पुरें झट से !!

Happy New Year 2017

*****************************************************

दुखदायी जो पल थे उन्हें भुलाएं
मधुर स्म्रतियों से नव वर्ष को गले लगायें ,
करते है दुआ हम रब से सर झुकाके …
इस साल के सारे सपने पुरे हो आपके.

*****************************************************

नए रंग हों नयी उमंगें आँखों में उल्लास नया
नए गगन को छू लेने का मन में हो विश्वास नया
नए वर्ष में चलो पुराने मौसम का हम बदलें रंग
नयी बहारें लेकर आये जीवन में मधुमास नया !!

नए वर्ष की हार्दिक बधाई 

*****************************************************

नए वर्ष में करें इरादा
जीवन नई दिशा में मोड़ें
ग़र हो कोई बुरी आदत तो
मन में निश्चय करके छोड़ें !!

नव वर्ष की हार्दिक शुभकामनायें

*****************************************************

ढलते दिसम्बर के साथ ही सारी खतायें माफ़ कर देना,
दोस्तों…
क्या पता जब दुबारा दिसम्बर आये तो हम रहे ना रहे…!!

*****************************************************

 

 

Happy New Year Message in Hindi collection for shayrana Dil