Dard Bhari Shayari In Hindi

Dard Bhari Shayari In Hindi (दर्द भरी शायरी हिन्दी मेँ )

Dard Bhari Shayari In Hindi (दर्द भरी शायरी हिन्दी मेँ )

Searching for Dard Bhari Shayari in Hindi. Visit us now to read & share Best Dard Bhari Shayari in Hindi Dard Bhari Shayari SMS, submit your own Shayari. Pyar Bhari Shayari in Hindi. About Love Forever, Beautiful Pyar Sms with Image, Pyar Shayari for girl and boy. We are Providing Thousands of Dard Bhari Shayari in Hindi,2 Line Dard Bhari Shayari in Hindi. Tons of best quality Shayari like Hindi Shayari, Dard Bhari Shayari, Love Shayari, Romantic Shayari, Student Shayari, Hindi Shayari, for the unhappiness, sorrows and deep distress. This unhappiness can be of any kind, People read Dard Bhari Shayari. Dard Shayari is a form of poetry expressing painful feelings of the heart. We have collected best ever Dard Bhari Shayari in the Hindi script. It is all about Dard Bhari Shayari, Dard Bhari Shayari Pyar Bhari Shayari, Shayari on Dard, Shayari Dard Friendship Shayaris & Hindi Messages Hindi Love Shayari 2017 Bewafa Shayari in Hindi for a girlfriend and boyfriend Wafa Shayari.Bewafa Shayari in Hindi for the girlfriend, Bewafa status in Hindi for Whatsapp.

हम थे तन्हा- 2 तूने आँखों में और आँसू भर दिए ,

मेरी जिंदगी में आकर मुझे और भी तन्हा  कर दिए…!!

K K Singh

 

 

– Mr. K.K.Singh

***********************************************************************

लोग जलते रहे मेरी मुस्कान पर,

मैंने दर्द की अपने नुमाईश न की

जब जहाँ जो मिला अपना लिया,

जो न मिला उसकी ख्वाहिश न की…!!

***********************************************************************

यूँ तो हर एक दिल में दर्द नया होता है,

बस बयान करने का अंदाज़ जुदा होता है,

कुछ लोग आँखों से दर्द को बहा लेते हैं,

और किसी की हँसी में भी दर्द छुपा होता है…!!

**********************************************************************

तोड़ दिए मैंने घर के आईने सभी,

प्यार में हारे हुए लोग मुझसे देखे नहीं जाते…!!

**********************************************************************

दिल में है जो दर्द वो दर्द किसे बताएं,

हंसते हुए ये ज़ख्म किसे दिखाएँ,

कहती है ये दुनिया हमे खुश नसीब,

मगर इस नसीब की दास्ताँ किसे बताएं…!!

**********************************************************************

वो हमको पत्थर और खुद को,

फूल कह कर मुस्कुराया करते हैं,

उन्हें क्या पता कि पत्थर तो पत्थर ही रहते हैं,

फूल ही मुरझा जाया करते हैं…!!

**********************************************************************

आज कुछ कमी है तेरे बगैर,

ना रंग है ना रोशनी है तेरे बगैर,

वक्त अपनी रफ्तार से चल रहा है,

बस धड़कन सी थमी है तेरे बगैर…!!

**********************************************************************

मोहब्बत का मेरे सफर आख़िरी है,

ये कागज कलम ये गजल आख़िरी है,

मैं फिर ना मिलूँगा कहीं ढूंढ लेना,

तेरे दर्द का अब ये असर आख़िरी है..!!

**********************************************************************

लाखो की हंसी तुम्हारे नाम कर देंगे,

हर खुशी तुम पे कुर्बान कर देंगे,

आये अगर हमारे प्यार मे कोई कमी तो कह देना,

इस जिन्दगी को आखरी सलाम कह देंगे..!!

**********************************************************************

फेर लेते हैं नज़र, दिल से भुला देते हैं,

क्या यूँ ही लोग वाफ़ाओं का सिला देते हैं,

वादा किया था फिर भी ना आए मज़ार पर,

हमने तो जान दी थी इसी ऐतबार पर!!

================================================

आरजू नहीं के ग़म का तूफान टल जाये,

फ़िक्र तो ये है तेरा दिल न बदल जाये,

भुलाना हो अगर मुझको तो एक एहसान करना,

दर्द इतना देना कि मेरी जान निकल जाये।..!!

================================================

मिलने का वादा कर गयी थी,

वापस लौट आउंगी ये कहकर गयी थी,

आई है अब वो जनाज़े पे मेरे,

वादा वो अपना निभाने चली थी!!

================================================

एक बार ही जी भर क सज़ा क्यो नही देते?

में हरफ़-ए-ग़लत हूँ तो मिटा क्यो नही देते?

मोती हूँ तो दामन में पिरो लो मुझे अपने,

आँसू हूँ तो पलकों से गिरा क्यूँ नही देते?

साया हूँ तो साथ ना रखने की वजह क्या?

पत्थर हूँ तो रास्ते से हटा क्यूँ नही देते?

================================================

मेरी रूह में न समाती तो भूल जाता तुम्हे,

तुम इतना पास न आती तो भूल जाता तुम्हे,

यह कहते हुए मेरा ताल्लुक नहीं तुमसे कोई,

आँखों में आंसू न आते तो भूल जाता तुम्हे!!

================================================

इस तरह मिली वो मुझे सालों के बाद,

जैसे हक़ीक़त मिली हो ख़यालों के बाद,

मैं पूछता रहा उस से ख़तायें अपनी,

वो बहुत रोई मेरे सवालों के बाद!!

================================================

तिनके तिनके मे बिखरते चले गये,

तन्हाई की गहराइयो मे उतरते चले गये,

जन्नत थी हर शाम जिन दोस्तो के साथ,

एक एक कर के सब बिछड़ते चले गये!!

================================================

यू तो खामोश ही रहती है आँखे,

अगर समझ सको तो बहुत कुछ कहती है आँखे,

कौन कहता है की रोती है आँखे,

रोता तो दिल है,

मगर उसे भी कह देती है आँखे!!

================================================

ये बेवफा वफा की कीमत क्या जाने,

है बेवफा गम-ऐ मोहब्बत क्या जाने,

जिन्हे मिलता है हर मोड पर नया हमसफर,

वो भला प्यार की कीमत क्या जाने!!

================================================

उनके होंठो पे मेरा नाम जब आया होगा,

खुदको रुसवाई से फिर कैसे बचाया होगा,

सुनके फसाना औरो से मेरी बर्बादी का,

क्या उनको अपना सितम ना याद आया होगा!!

रेत पर नाम कभी लिखते नहीं,

रेत पर लिखे नाम कभी टिकते नहीं,

तुम कहते हो पत्थर दिल हूँ मैं,

पत्थर पर लिखे नाम कभी मिटते नहीं!!

तन्हाई मेरे दिल में समाती चली गयी,

किस्मत भी अपना खेल दिखाती चली गयी,

महकती फ़िज़ा की खुशबू में जो देखा तुम को,

बस याद उनकी आई और रुलाती चली गयी!!

================================================

ज़िन्दगी के उलझे सवालो के जवाब ढूंढता हूँ,

कर सके जो दर्द कम, वोह नशा ढूंढता हूँ,

वक़्त से मजबूर, हालात से लाचार हूँ मैं,

जो देदे जीने का बहाना ऐसी राह ढूंढता हूँ!!

बेनाम सा यह दर्द ठहर क्यों नही जाता,

जो बीत गया है वो गुज़र क्यों नही जाता,

वो एक ही चेहरा तो नही सारे जहाँ मैं,

जो दूर है वो दिल से उतर क्यों नही जाता!!

वो करता है नजर अन्दाज तो,

बुरा मत मान ऐ दिल,

टूटकर चाहने वालो को सताना,

रिवाज है मोहब्बत का!!

================================================

हँसते हुए ज़ख्मों को भुलाने लगे हैं हम,

हर दर्द के निशान मिटाने लगे हैं हम,

अब और कोई ज़ुल्म सताएगा क्या भला,

ज़ुल्मों सितम को अब तो सताने लगे हैं हम!!

तन्हाइयों में उसे याद करके मैं आज भी रोता हूँ!

वो कहीं और होती है, मैं कहीं और होता हूँ!!

================================================

वो साथ थे तो, एक लफ़्ज़ ना निकला लबों से,

दूर क्या हुए, कलम ने क़हर मचा दिया!!

================================================

में किसी को क्या इलज़ाम दूँ अपनी मौत का यारो,

इस ज़िंदगी में सताने वाले भी अपने थे, और दफ़नाने वाले भी!!

================================================

ग़म किस को नहीं तुझको भी है मुझको भी है,

चाहत किसी एक की तुझको भी है मुझको भी है।

================================================

अब भी ताज़ा है ज़ख़्म सीने में,

बिन तेरे क्या रखा है जीने में,

हम तो ज़िंदा हैं तेरा साथ पाने को,

वरना देर कितनी लगती है ज़हर पीने में!!

================================================

तुम्हारे होने ना होने का हवाला मिल जाए,

मुस्कुरादो तो अंधेरों को उजाला मिल जाए,

ये दुआ है के मेरे बाद ना तन्हाईए डसे तुम्हे,

तुमको मुज़से भी ज़्यादा चाहने वाला मिल जाए!!

वो नज़र कहाँ से लाऊ जो तुम्हे भुला दे,

वो दवा कहाँ से लाऊ जो इस दर्द को मिटा दे

मिलना तो लिखा होता है तकदीरो में पर,

जो हम दोनो को मिला दे,

वो तक़दीर ही कहाँ से लाऊ!!

================================================

दर्द है दिल में पर इसका एहसास नहीं होता,

रोता है दिल जब वो पास नहीं होता,

बर्बाद हो गए हम उसके प्यार में,

और वो कहते हैं इस तरह प्यार नहीं होता!!

================================================

बिछड़ के तुम से ज़िंदगी सज़ा लगती है,

यह साँस भी जैसे मुझ से ख़फ़ा लगती है,

तड़प उठता हूँ मैं दर्द के मारे,

ज़ख्मों को जब तेरे शहर की हवा लगती है,

अगर उम्मीद-ए-वफ़ा करूँ तो किस से करूँ,

मुझ को तो मेरी ज़िंदगी भी बेवफ़ा लगती है!!

================================================

यह आरजू नहीं कि किसी को भुलाएं हम,

न तमन्ना है कि किसी को रुलाएं हम,

जिसको जितना याद करते हैं,

उसे भी उतना याद आयें हम!!

दिल मे ना हो ज़रूरत तो मोहब्बत नही मिलती,

खैरात मे इतनी बड़ी दौलत नही मिलती,

कुछ लोग यूँ ही शहर मे हम से भी खफा हैं,

हर एक से अपनी भी तबीयत नही मिलती,

देखा था जिसे मैने कोई और था शायद,

वो कौन है जिस से तेरी सूरत नही मिलती,

हंसते हुए चेहरो से है बाज़ार की ज़न्नत,

रोने को यहा वैसे भी फ़ुर्सत नही मिलती!!

================================================

प्यार मे कोई दिल तोड़ देता है,

दोस्ती मे कोई भरोसा तोड़ देता है,

ज़िंदगी जीना तो कोई गुलाब से सीखे,

जो खुद टूट कर दो दिलो को जोड़ देता है!!

================================================

अब भी ताज़ा है ज़ख़्म सीने में,

बिन तेरे क्या रखा है जीने में,

हम तो ज़िंदा हैं तेरा साथ पाने को,

वरना देर कितनी लगती है ज़हर पीने में!!

================================================

तेरी याद मैं आंसुओ का समंदर बना लिया,

तन्हाई क सहर मैं अपना घर बना लिया,

सुना है लोग पूजते हैं पत्थर को,

इसी लिए दिल अपना पत्थर बना लिया!!

================================================

आँखों मे किसी सपने ने आना छोड़ दिया,

होठो पर अब हंसी ने भी आना छोड़ दिया,

अब तो हिचकियाँ भी नही आती,

शायद आपने याद करना ही छोड़ दिया!!

एक दर्द दिल में है आज,
जज़्बात भी मेरे उदास है आज,

है कई रिश्ते साथ मेरे,
फिर भी एक तन्हाई का एहसास है आज,

ना जाने क्यो रुकती नहीं,
ये जो अश्को की बरसात है आज,

ना दिन गुज़र रहा है ना रात,
बस तेरे बिना ज़िंदगी उदास है मेरी आज!!

मेरी चाहत का अंदाज़ा ना लगा पाओगे,

खुद को भूल जाओगे मगर हमको ना भुला पाओगे,

एक बार हमसे जुदा होकर तो देखो,

कसम तुम्हारी हमारे बगैर जीना भूल जाओगे!!

================================================

दर्द है दिल में पर इसका एहसास नहीं होता,

रोता है दिल जब वो पास नहीं होता,

बर्बाद हो गए हम उसके प्यार में,

और वो कहते हैं इस तरह प्यार नहीं होता!!

================================================

सारी उमर पूजते रहे लोग,

अपने हाथ से बनाए हुए खुदा को,

हमने खुदा के हाथ से बने इंसान को चाहा,

तो गुनेहगार हो गये!!

तलाश कर मेरी कमी को अपने दिल में ए यार,

दर्द हो तो समझ लेना की मोहब्बत अब भी बाकी है!!

================================================

हद से बढ़ जाये ताल्लुक तो ग़म मिलते हैं,

हम इसी वास्ते अब हर शख्स से कम मिलते हैं।

================================================

ऐ दिल न रख उम्मीदे वफ़ा किसी परिंदे से,

जब पर निकल आते है तो अपने भी आशियाँ भूल जाते है!!

================================================

तुम हमे जान पाते तुम्हे इतनी फुर्सत कहाँ थी,

और हम तुम्हे भूल पाते हममे इतनी जुर्रत कहाँ थी!!

================================================

आता ही नहीं उसके बिना जीना हमको,

काश उस शख्स ने मरना भी सिखाया होता!!

================================================

सुना है दिल से याद करो तो खुदा भी आ जाते है,

हमने तो साँसों को भी दाव पर लगा दिया फिर भी अकेले रह गए!!

इतनी लम्बी उम्र की दुआ न मांग मेरे लिए,

कहीं ऐसा न हो की तू छोड़ दे और मुझे मौत भी न आये!!

================================================

किसी ने यूँ ही पूछ लिया की दर्द की कीमत क्या है,

हमने भी हँसते हुए कहा की पता नहीं, कुछ अपने मुफ्त में दे जाते है!!

================================================

ऐसा नहीं था की दिल में तेरी तस्वीर नहीं थी,

पर हाथों में तेरे नाम की लकीर नहीं थी!!

================================================

मोहब्बत के बाजार में दोपहर तक बिक गया हर एक झूठ,

एक में ही शख्स था जो सच लेकर शाम तक बैठा रहा!!

कभी ज़िद में तेरे हो गये,

कभी दिल ने तुझे गँवा दिया,

इसी कश्मकश में रही सदा,

तू ने याद रखा या भुला दिया,

कभी बे-बसी में हंस दिए,

कभी हँसी ने हम को रुला दिया!!

================================================

हादसे बनके लोग यहाँ मिला करते है,

ज़ख़्म देने के ही सामान दिया करते है,

रोज़ गिर जाती है दीवार तेरे वादों की,

रोज़ ही हम मौत के साए में जिया करते है!!

================================================

हंसकर देखा रोकर भी देख लिया,

पाकर देखा खोकर भी देख लिया,

प्यार भी किया ओर जान भी लिया,

ज़िंदगी वही जी सकता है जिसने अकेले जीना सीख लिया!!

================================================

हर रात एक नाम याद आता है,

कभी कभी सुबह शाम याद आता है,

सोचता हों कर लूँ दूसरी मुहब्बत ..

“सनम”

मगर फिर पहली मुहब्बत का अंजाम याद आता है!!

================================================

Updated: October 28, 2017 — 1:54 pm

1 Comment

Add a Comment
  1. Maykhano me jane ke adat Nahi the.
    Kisi ke bewafai ne jana sikha diya
    Kabhi raha karte the unke dil me
    Ab maykhane ko he apna ashiyana bna liya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shayrana Dil © 2016 Shayrana Dil