Desh Bhakti Shayari in Hindi

Desh Bhakti Shayari in hindi

Great lines for every Indian and Happy Republic Day. Its amazing collection of Desh Bhakti Shayari in Hindi.

Republic Day 2017

फिर उड़ गयी नींद मेरी ये सोचकर ,

के जो शहीदों का बहा वो खून मेरी नींद के लिए था …!!

******************************************

हर वक़्त मेरी आँखों में धरती का स्वप्न हो ,

जब कभी मरू तो तिरंगा मेरा कफ़न हो ,

और कोई ख्वाहिश नहीं है ज़िन्दगी में ,

जब कभी भी जन्मु तो भारत मेरा वतन हो …!!

******************************************

आजादी की कभी शाम नही होने देगे,

शहीदों  की कुरबानी बदनाम नहीं होने देंगे  ,

बची हो जो एक बूंद भी गरम लहू की तब तक,

भारत माता का आचल नीलाम नहीं होने देंगे…!!

!! जय हिंद !!

******************************************

अधिकार मिलते नहीं लिए जाते है ,

आजाद  हैं मगर गुलामी किये जाते हैं ,

बंदन करो उन सैनिकों  का ,

जो मौत को आँचल में जिए जाते हैं ..!!

******************************************

Desh Bhakti Shayari in Hindi Collection

 

दे सलामी इस तिरंगे को

जिस से तेरी शान हैं,

सर हमेशा ऊँचा रखना इसका

जब तक दिल में जान हैं..!!

******************************************

न मरो सनम बेवफा के लिए ,

दो गज जमीन नहीं मिलेगी दफ़न के लिए ,

मरना है तो मरो  वतन के लिए,

हसीना भी दुपट्टा उतार देगी  तेरे कफ़न के लिए .!!

!! जय हिंद !!

*******************************************

किसी गजरे की खुशबु को महकता छोड़ आया हूँ,

अपनी  नन्ही सी चिड़िया को चहकता छोड़ आया हूँ,

मुझे छाती से अपनी तू लगा लेना ऐ भारत माँ,

मैं अपनी माँ की बाहों को तरसता छोड़ आया हूँ !!

*******************************************

बस ये बात हवाओं को बताये रखना,

रौशनी होगी चिरागों को जलाये रखना,

लहू देकर जिसकी हिफाज़त की शहीदों ने,

उस तिरंगे को सदा दिल में बसाये रखना… !!

*******************************************

मैं भारत बर्ष का हमेशा अमित सम्मान करता हूँ,

यहाँ की चांदनी मिट्टी का ही गुणगान करता हूँ,

मुझे चिंता नहीं है स्वर्ग जाकर मोक्ष पाने की,

तिरंगा हो कफ़न मेरा, बस यही अरमान रखता हूँ..!!

*******************************************

Desh Bhakti Shayari

ज़माने भर में मिलते हे आशिक कई,

मगर वतन से खूबसूरत कोई सनम नहीं होता,

नोटों में भी लिपट कर, सोने में सिमटकर मरे हे कई,

मगर तिरंगे से खूबसूरत कोई कफ़न नहीं होता …!!

!! जय हिंद !!

*******************************************

इश्क़  तो करता है हर कोई ,

महबूब पे मरता है हर कोई ,

कभी वतन को महबूब बना कर देखो ,

तुझ पे मरेगा हर कोई ….!!

*******************************************

चलो फिर से आज वो नजारा याद कर ले ,

शहीदों के दिल में थी वो जलवा यद् करले 

जिसमे बहकर आज़ादी पहुँची थी किनारे पे,

देशभक्तों के खून की वो धारा याद कर ले…!!

*******************************************

जशन आज़ादी का मुबारक हो देश वालो को,

फंदे से मोहब्बत थी हम वतन के मतवालो को…!!

*******************************************

Happy Republic Day 2017

Desh Bhakti Shayari in Hindi Collection

Shayrana Dil – Collection of Desh Bhakti Shayari, Ahmad Faraz Shayari in Hindi, 2 line  Shayari in Hindi

Leave a Reply